मकानों की कीमत बहुत अधिक हैं और अधिकतर लोगों को घर खरीदने के लिए लोन लेना
पड़ता है| मकानों की कीमत अधिक होने की वजह से लोन राशि भी अधिक चाहिए होती है| अगर
आपको ज़रुरत के अनुसार लोन नहीं मिल पाया, तो आप क्या करेंगे? मेरा मतलब है की आपकी
लोन की पात्रता (loan eligibility) आपकी लोन की ज़रुरत से कम है|

इस पोस्ट में चर्चा करेंगे अपनी लोन eligibility बढाने के 5 तरीकों के बारे में|

आगे बढ़ने से पहले देखते हैं की बैंक आपकी लोन पात्रता कैसे निकालते है|

बैंक आपके लोन की eligibility (पात्रता) कैसे निकालता है?

बैंक आपको केवल उतना ही लोन देगा, जिसका की आप आसानी से भुगतान कर पाएं|

आप जितनी EMI का भुगतान कर सकते हैं, उसी के अनुसार आपको लोन दिया जाता है|

मान लिए आपकी मासिक आय 50,000 रुपये है|
आपके ऊपर कोई और लोन नहीं है|

हर बैंक के नियम अलग होते हैं| मान लिए आपके बैंक का नियम है की आपकी आय के 50% से अधिक की EMI का लोन नहीं दिया जाएगा|

अगर मासिक आय 50,000 रुपये है, तो अधिकतम ईएमआई 25,000 रुपये से अधिक नहीं हो सकती|

अधिकतम EMI, लोन अवधि और ब्याज दर का
प्रयोग करके आप अपनी लोन पात्रता कैलकुलेट कर सकते हैं|

मान लिए लोन अवधि है 15 वर्ष और ब्याज दर है 10% p.a.

आपकी अधिकतम लोन राशि होगी: PV(10%/12, 15*12, 25,000, 0) = 23.26 लाख रुपये

आपको इस राशि से अधिक का लोन नहीं मिलेगा| ध्यान दें अगर आपके पास कोई दूसरा
लोन भी है, तो उस लोन की EMI को भी शामिल किया जाएगा| मान लिए आपके दूसरे लोन की EMI 10,000 रुपये है, तो आपके नए लोन की EMI 15,000 रुपये (25,000-10,000) से अधिक
नहीं हो सकती|

इस विषय में अधिक जानकारी के लिए इस पोस्ट (आपको कितना होम लोन मिल सकता है?) को पढ़ें|

आईये देखते हैं 5 तरीके जिससे की आप अपनी लोन पात्रता (eligibility) बढ़ा सकते हैं|

#1 अपनी आय को बढायें

यह समझना तो आसान है परन्तु करना शायद आसान नहीं है| आय बढ़ेगी, तो अधिक EMI का भुगतान कर सकते हैं| अगर अधिक EMI का भुगतान कर सकते हैं, तो आपकी लोन पात्रता भी बढ़ जायेगी|

#2 जोईंट लोन (Joint Loan) लें

एक से भले दो| अगर आप अपनी पत्नी/पति को co-borrower (सह-उधारकर्ता) बनाते हैं, तो लोन की पात्रता निकालने के लिए आप दोनों की आय को जोड़ दिया जाएगा| इससे भी आपकी लोन की पात्रता बढ़ सकती है| ध्यान दें आय तभी बढ़ेगी, जब आपकी पत्नी/पति की कोई आमदनी हो|

#3 पुराने लोन चुकाएं

हमनें ऊपर चर्चा करी थी की आपकी लोन पात्रता निकालते समय आपके मौजूदा लोन को
भी ध्यान में रखा जाता है| मौजूदा लोन आपकी लोन पात्रता को कम कर देते हैं| इसलिए
आप मौजूदा लोन का भुगतान करके भी अपनी लोन पात्रता बढ़ा सकते हैं|

#4 लोन अवधि को बढाएं

लोन अवधि बढ़ने पर लोन की EMI कम होती है|

अगर आप 40 लाख रुपये का लोन 20 वर्ष के लिए लेते हैं (ब्याज दर 9%), तब
आपकी ईएमआई 35,989 रुपये| इतने लोन के लिए आपकी मासिक आय 71,978 होनी चाहिए|

अगर आपकी मासिक आय 71,978 रुपये ही रहती और आप 30 वर्ष का लोन लेते, तब
आपकी लोन पात्रता 44.72 लाख रुपये हो जाती| आप देख सकते हैं की लोन अवधि 20 से 30
वर्ष करने पर लोन की eligibility 40 लाख से
44.72 लाख रुपये हो गयी|

#5 आप नए लोन उत्पाद ले सकते हैं

बैंक भी आज कल ऐसे लोन प्रोडक्ट ले कर आ रहे हैं, जहाँ की आपकी लोन की पात्रता ज्यादा हो|

उदाहरण है SBI FlexiPay होम लोन| इस लोन में आपकी लोन की पात्रता 20% तक बढ़ जाती है| ऐसा करने के लिए बैंक पहले कुछ वर्षों में केवल ब्याज ही लेता है| अधिक जानकारी के लिए इस पोस्ट को पढ़ें|

इसके अलावा कुछ और उत्पाद भी है, जहाँ आप अपने माता/पिता के साथ joint लोन ले सकते हैं| जब तक आपके पिता काम कर रहे, तब तक आप दोनों EMI का भुगतान करेंगे और EMI ज्यादा होगी| जब आपके पिता रिटायर हो जायेंगे, तब केवल आपको ईएमआई का भुगतान करना होगा| अधिक जानकारी के लिए इस पोस्ट (अंग्रेजी) को पढ़ें|

ऊपर दिए गए सुझावों के अलावा कुछ तरीके हैं ज्यादा लोन पाने के| आप कुछ अतिरिक्त सेकुरिटी देते हैं, तब भी बैंक आपकी लोन राशि बढाने को तैयार हो सकता है| साथ ही, अपने क्रेडिट स्कोर का ध्यान रखें| अगर आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा है, तब भी बैंक आपको अधिक लोन देने को मान सकता है|

अतिरिक्त लिंक

SBI Home Loan

कैसे आप अपना होम लोन जल्दी खत्म कर सकते हैं?

(Visited 639 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here