Table of Contents

गूगल पेनल्टी एक वेबमास्टर के लिए सबसे खराब चीजों में से एक है।

जब गूगल किसी वेबसाइट को पेनल्टी लगाता है, तो वे  वेबसाइटें सर्च रिजल्ट में ट्रैफ़िक और अच्छी रैंक प्राप्त नहीं कर पाती हैं क्योंकि वेबसाइट सर्च रिजल्ट में नहीं दिखाई देती है या वेबसाइट के को पेज गूगल इंडेक्स से हटा दिए जाते हैं।

यदि आपकी वेबसाइट का ट्रैफ़िक अचानक से कम हो गया है, तो यह Google penalty के कारण हो सकता है।

यदि आप सोच रहे हैं कि क्या आपकी साइट Google Penalty का शिकार हुई है या नहीं और इसे चेक करना चाहते है, तो आप सही जगह पर हैं।

इस आर्टिकल में, मैं विस्तार से चर्चा करूँगा कि वेबसाइट Google द्वारा Penalized या Blocked है कैसे चेक करें।

तो चलो शुरू करते है…

Google Penalty क्या है

जब कोई साइट या URL गूगल इंडेक्स से पूरी तरह से हटा दी जाती है, तो इसका मतलब है कि वेबसाइट Google penalty से प्रभावित हुई है। गूगल पेनल्टी से पूरी साइट की रैंकिंग या कुछ पेज की रैंकिंग में अचानक गिरावट आ जाती है। लेकिन ऐसा होने के कई कारण हो सकते हैं:

  • आपके कीवर्ड की सर्च वॉल्यूम कम हो गई है।
  • हो सकता है कि आपने कुछ High quality backlinks खो दिए हों।
  • आपने अपनी वेबसाइट को फिर से डिजाइन किया है।

यदि इनमें से कोई भी समस्या नहीं है, तो हो सकता है आपकी वेबसाइट को गूगल पेनल्टी लगा हो। आपको तेजी से कार्य करने की आवश्यकता है ताकि आप अपनी ट्रैफ़िक और सर्च रैंकिंग को फिर से Recover कर सकें।

अगर आपकी वेबसाइट गूगल पेनल्टी लगी है तो कैसे चेक करें

कोई भी स्टेप लेने से पहले सबसे पहले, आपको यह जांचने की आवश्यकता है कि आपकी साइट को गूगल ने पेनल्टी लगाया है या नहीं।

यह जाँचने के लिए कि क्या वेबसाइट गूगल द्वारा blocked है, यहाँ सर्च टर्म हैं जिन्हें आपको Google.com में दर्ज होगा ताकि यह पता चल सके कि आपकी वेबसाइट Google द्वारा banned है या नहीं।

site: yourdomain.com गूगल में सर्च करें। यदि आपको अपनी वेबसाइट के लिए सर्च रिजल्ट परिणाम नहीं मिलता है, तो इसका मतलब है कि आपकी साइट Google द्वारा penalized की गई है और पूरी वेबसाइट को Google index से हटा दिया गया है।

लेकिन अगर आप रिजल्ट देख पा रहे हैं, तो आप Google द्वारा blocked नहीं हैं।

यदि आपकी वेबसाइट ट्रैफ़िक कम हो गया है, तो हो सकता है कि आपने Google guidelines के विरुद्ध कुछ किया हो और आपकी वेबसाइट Google search algorithm updates द्वारा प्रभावित गई हो।

Google Penalty Check करने के लिए Best Tools

यदि आप गूगल पेनल्टी चेक करने के लिए Google penalty checker tool की तलाश कर रहे हैं, तो यहां कुछ टूल हैं जो आपकी मदद कर सकते हैं।

1. SEMrush Sensor

SEMrush Sensor Google रैंक और एल्गोरिथम ट्रैकिंग टूल है। यह टूल सर्च रिजल्ट में volatility को मापता है, मोबाइल और डेस्कटॉप पर 20+ categories को ट्रैक करता है और Google Updates को हाइलाइट करता है।

2. Barracuda’s Panguin Tool

पंगुइन टूल एक फ्री SEO tool  है जो आपको यह एनालाइज करने में मदद करता है कि क्या आप Google algorithm updates से प्रभावित हुए हैं। यदि आपकी साइट Google algorithm updates से हिट हो गई है, तो यह रिपोर्ट करने के लिए Google Analytics का उपयोग करता है।

3. Fruition Google Penalty Checker

यह टूल आपको ग्राफ़िकल रिपोर्ट देता है, कि कौन सी गूगल अपडेट ने आपकी वेबसाइट की रैंकिंग या ट्रैफ़िक को प्रभावित किया है। इस टूल के फ्री वर्शन के साथ, आप दो डोमेन कनेक्ट कर सकते हैं, लेकिन आप प्रीमियम में अपग्रेड करके अधिक फीचर को अनलॉक कर सकते हैं।

4. MOZ Algorithm Change History

MOZ SEO के लिए एक जानी-मानी वेबसाइट है। यह विभिन्न टूल प्रदान करता है जो वेबसाइट ट्रैफिक बढ़ाने में आपकी सहायता करते हैं। उन टूल में से एक Algorithm Change History है।

यह टूल सभी Google updates को dates, और detailed information के साथ लिस्टेड करता है। यदि रातों-रात आपकी अचानक ट्रैफ़िक ड्रॉप हुई है, तो आपको तुरंत Algorithm Change History पर जाना चाहिए।

5. Rank Ranger Rank Risk Index

RankRanger आपको Google algorithm के बारे में सभी आवश्यक जानकारी देता है। यह color-code के साथ रिपोर्ट करता है, जिससे मुद्दों को समझना और पता लगाना आसान हो जाता है।

नीले रंग का मतलब है कि आप पूरी तरह से सुरक्षित हैं, हरा आपको बताता है कि आप ठीक हैं लेकिन आप चीजों को बेहतर कर सकते हैं, और लाल का मतलब है कि आप खतरे में हैं, और आपको चीजों को जल्दी ठीक करने की आवश्यकता है।

6. Fe international Website Penalty Indicator

इसका उपयोग करना आसान है और इसके लिए साइनअप की आवश्यकता नहीं है। बस आपको अपने डोमेन दर्ज करने की आवश्यकता है, और यह major updates के साथ आपके पिछले वर्षों के ट्रैफ़िक का रिपोर्ट करता है।

7. Google Search Console

Google Search Console सबसे आवश्यक टूल है जिसका उपयोग हर वेबसाइट के मालिक को करना चाहिए। यह आपको जानकारी प्राप्त करने में मदद करता है कि आपकी वेबसाइट गूगल में कैसा प्रदर्शन कर रही है, Errors और उन्हें ठीक करने के तरीके भी बताता है।

यदि आपकी वेबसाइट Google द्वारा Penalized है, तो Google Search Console यह जानने का सबसे आसान तरीका है कि आपकी साइट Google penalty से टकराई है या नहीं।

आपको बस साइडबार में Security & Manual Actions >> Manual Actions पर क्लिक करने की आवश्यकता है।

Google एक संदेश “No Issues Detected” प्रदर्शित करेगा, जिसका अर्थ है कि आपकी वेबसाइट Algorithm updates या manual penalty से सुरक्षित है।

लेकिन अगर आपकी साईट को गूगल पेनल्टी लगा है, तो यह उचित निर्देशों के साथ-साथ पेनल्टी टाइप दिखाएगा कि आप कैसे penalty  से छुटकारा पा सकते हैं।

इस तरह आप चेक कर सकते हैं कि आपकी वेबसाइट को Google penalty लगी है या नहीं।

12 कारण Google आपकी वेबसाइट को Penalize कर सकता है

यहाँ कुछ संभावित कारण हैं जो आपकी वेबसाइट को Google penalty की तरफ ले जाते हैं:

1. Toxic Links

बहुत से Toxic Links (Bad links) या स्पैम साइट्स से लिंक होने के कारण आपको गूगल से पेनल्टी लग सकता है।

यदि आपने इनमें से कोई भी काम किया है: लिंक खरीदना, लिंक एक्सचेंज करना, अपनी वेबसाइट को हजारों spammy directories में सबमिट करना, तो आपको संभवतः Google penalty मिलेगी।

2. Broken Links

यदि आपकी वेबसाइट में बहुत सारे Broken Links हैं, तो आप गूगल को एक बुरा संकेत भेज रहे हैं। और गूगल भी आपकी साइट को क्रॉल करना कम कर देगा।

गूगल 404 error page से नफरत करता है। साथ ही, यह आपके वेबसाइट विजिटर के user experience को प्रभावित करता है। यहाँ पर एक गाइड है – WordPress Me Broken Link Fix Kaise Kare

3. Thin Content

यदि आपकी वेबसाइट में कई ऐसे पेज हैं जो बहुत छोटे हैं और विजिटर के लिए उपयोगी नहीं हैं, तो उन्हें डिलीट कर दें या उन्हें एक साथ मर्ज कर दें।

4. Duplicate Content

गूगल ऐसी कंटेंट को प्राथमिकता देता है जो यूनिक हो। यदि आप लगातार अन्य वेबसाइटों से कंटेंट कॉपी करते हैं, तो आपको कभी भी अच्छा रिजल्ट नहीं मिलेगा और गूगल जल्द ही आपकी साइट को पेनल्टी लगा सकता है और ban कर सकता है।

5. Malware or Suspicious Code

यदि आपकी वेबसाइट मैलवेयर से इन्फेक्टेड है या पूरी तरह से हैक हो गई है, तो गूगल आपकी वेबसाइट पर विजिटर को भेजना बंद कर देगा है ताकि वे किसी हमले का शिकार न हों।

गूगल वेबसाइट ओनर को Google Search Console के ऐसे हमलों के बारे में सूचित करता है। यदि आपको ऐसी कोई सूचना मिलती है, तो इसे जल्द से जल्द ठीक करे।

6. Hidden Links and Text

इसका उपयोग हैकर्स द्वारा वेबसाइट पर लिंक और टेक्स्ट को छिपाने या गूगल से छेड़छाड़ करने के लिए किया जाता है। किसी भी छिपे हुए लिंक या टेक्स्ट के मामले में, इसे suspicious (Google guidelines के विरुद्ध) माना जा सकता है।

गूगल अभी बहुत स्मार्ट हो गया है और वे आपकी वेबसाइट पर छिपे हुए टेक्स्ट या लिंक को आसानी से पढ़ सकता हैं, भले ही आपने इसे CSS ट्रिक के माध्यम से छिपाने की कोशिश की हो।

7. Keyword Stuffing

कीवर्ड स्टफिंग तब होती है जब कोई व्यक्ति सर्च रिजल्ट में अपनी रैंक में हेरफेर करने के लिए एक ही कीवर्ड को कई बार उपयोग करता है।

कुछ साल पहले, कई वेबसाइट अपनी रैंकिंग बढ़ाने के लिए Keyword stuffing का उपयोग  करते थे। लेकिन अब यह गूगल के quality guidelines के विरुद्ध है और Google penalty की ओर ले जाता है।

8. Slow Loading Speed

कोई भी Slow Loading वेबसाइट पर विजिट करना पसंद नहीं करता है। गूगल हमेशा अपने यूजर को अच्छा user experience प्रदान करना चाहता है। इसलिए यह स्पीड को Google ranking factor के रूप में उपयोग करता है।

यदि आप अपनी साइट पर ट्रैफ़िक ड्रॉप देख रहे हैं, तो Slow Loading Speed भी इसका एक कारण हो सकता है।  Website loading speed जांचने के लिए बहुत सारे उपकरण हैं । लेकिन मैं आपको PageSpeed Insights, Pingdom या GTmetrix टूल उपयोग करने की सलाह देता हूं।

Website loading speed को बेहतर करने के लिए Quick tips:

  • PHP 7.2 में upgrade करें
  • अपनी Image size को Optimize करें
  • केवल उपयोगी plugins को रखें
  • Unwanted media को Delete करें
  • CSS and JS Files को Minify करें
  • अच्छी Cache plugin का उपयोग करें
  • Redirects को Minimize करें
  • अच्छी वेब होस्टिंग का उपयोग करें
  • Database को ऑप्टिमाइज़ करें

9. High Bounce Rate

बहुत से लोग मानते हैं कि Bounce Rate एक  गूगल रैंकिंग फैक्टर है। यह गूगल को आपकी साइट की क्वालिटी के बारे में बताता है। High bounce rate होने का मतलब है कि पेज कम उपयोगी हैं और यूजर आपकी कंटेंट में रुचि नहीं रखते हैं। आपको अपनी रणनीति बदलनी होगी।

यदि आपकी साईट की bounce rate High है तो आपकी रैंकिंग सर्च इंजन (SERPs) में कम हो जायेगी।

10. Backlinks खोना

Backlinks अभी भी SEO में सबसे महत्वपूर्ण रैंकिंग फैक्टर हैं, Backlinks खोने से आपकी रैंकिंग पर भारी प्रभाव पड़ सकता है।

आप अपनी साइट के बैकलिंक को जांचने के लिए Majestic, SEMrush or Ahrefs टूल का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा, गूगल सर्च में ‘link: yourdomain.com’ टाइप करें। Google आपकी वेबसाइट के लिए बैकलिंक दिखाएगा। यदि आपको कोई परिणाम नहीं मिलता है, तो आपकी वेबसाइट गूगल द्वारा banned या पूरी तरह से deindexed कर दी गई है।

11. Affiliate Links

जो लोग पैसा कमाने के लिए Affiliate वेबसाइट चला रहे हैं, ज्यादातर समय, वे affiliated websites से प्रोडक्ट की यूआरएल को कॉपी और पेस्ट करते हैं। सर्च इंजन आसानी से ऐसी कंटेंट का पता लगा लेते हैं और उन्हें penalize और ban करना शुरू करते हैं। अपने एफिलिएट लिंक के लिए हमेशा Nofollow टैग का उपयोग करें। यहाँ एक गाइड है:- WordPress Me Link Nofollow Kaise Kare

12. Server Issue

यदि आपकी वेबसाइट कुछ समय के लिए डाउन है, तो यह किसी भी समस्या का कारण नहीं है। लेकिन अगर आपकी वेबसाइट कई दिनों तक डाउन रहती है, तो आपको अपनी वेबसाइट रैंकिंग में गिरावट दिखाई देगी।

Google Penalty से बचने के लिए Toxic Links Remove कैसे करें

यदि आपकी साईट को Toxic Links/bad links/spammy link से गूगल पेनल्टी लगी है, तो चिंता न करें… आप अपनी साइट से उन खराब लिंक को आसानी से हटा सकते हैं।

  • Backlink Audit Tool का उपयोग करके अपने सभी Toxic Links (bad links) का पता लगाएं।
  • खोजने के बाद आप सभी Toxic Links को हटाने के लिए Google Disavow टूल का उपयोग कर सकते हैं।

वेबसाइट में Spam Backlinks कैसे खोजें

यहाँ मैं bad backlinks खोजने के लिए तीन टूल का उपयोग करूंगा:

  1. SEMrush
  2. Google Search Console Tool
  3. Moz Explorer

1. SEMrush का उपयोग करके

  • सबसे पहले, SEMrush Backlink Audit पेज पर जाएं
  • अपनी साइट का URL add करें। यह आपकी साइट पर बैकलिंक का ऑडिट करेगा।
  • इसके बाद, “Audit” पर क्लिक करें। जैसा कि आप नीचे स्क्रीनशॉट देख सकते हैं।
Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare
  • यह स्कोर के साथ Toxic backlinks दिखाएगा (60-100 – Toxic, 45-59 – Potentially Toxic)। लिस्ट से Toxic backlinks को सेलेक्ट करें जिसे आप हटाना चाहते हैं।
Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

इसके बाद Delete >> To Disavow पर क्लिक करें।

Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

अब Disavow टैब पर जाएँ और Export to TXT पर क्लिक करें।

Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

आपकी disavow file डाउनलोड होने लगेगी।

2. Google Search Console Tool का उपयोग करके

यह मैनुअल प्रोसेस है और इसमें आपको बहुत समय लगेगा।

सबसे पहले, Google Search Console टूल में लॉग इन करें, फिर Link >> Top linking sites >> More पर क्लिक करें । यहां आपको ऐसी साइटें दिखाई देंगी जो आपकी साइट से लिंक हुई हैं और आपको बैकलिंक्स दे रही हैं। आप नीचे स्क्रीनशॉट में देख सकते हैं।

Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

इस लिस्ट को डाउनलोड करने के लिए Download बटन पर क्लिक करें।

Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

अब आपको इसे खुद जांचना होगा कि इसमें कोई स्पैम लिंक है या नहीं। यदि आपको इस लिस्ट में Spam, unrelated या unnatural links मिलते हैं, तो उन्हें अपने नोटपैड में लिखें।

3. Moz Explorer का उपयोग करके

सबसे पहले, Moz Link Explorer साइट पर जाएं और साइन अप करें।

  • साइट का URL add करें और सर्च आइकन पर क्लिक करें।
  • अब लेफ्ट साइड में Spam Score पर क्लिक करें।
Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

अब आप Spam backlinks की लिस्ट देख पाएंगे। यदि आपके पास फ्री अकाउंट है तो यह आपको कुछ ही लिंक दिखाएगा। सभी लिंक देखने के लिए आपको इसे अपग्रेड करना होगा।

अब, रिजल्ट को डाउनलोड करने के लिए Export CSV पर क्लिक करें।

Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

अब हमारे पास bad backlinks की लिस्ट है, तो चलिए उन्हें हटाना शुरू करते हैं…

Google Disavow Tool का उपयोग करके Website से Bad Backlinks Remove करना

कुछ साल पहले, low quality backlinks को नियंत्रित करने का कोई आसान तरीका नहीं था।

लेकिन शुक्र है कि गूगल ने Disavow Tool लॉन्च किया जो वेबमास्टर्स को spam link/toxics link की एक टेक्स्ट फ़ाइल बनाकर रिपोर्ट और सबमिट करने की अनुमति देता है।

गूगल उन डोमेन लिंक को महत्व नहीं देगा जिनके लिए आप Disavow tool का उपयोग करके रिपोर्ट करेंगे।

अपनी साइट से स्पैम बैकलिंक्स हटाने के लिए, सबसे पहले, एक टेक्स्ट फ़ाइल बनाएं और low quality backlinks टाइप करें जिन्हें आप अपनी साइट से Remove करना चाहते हैं। जो हमारे पास पहले से है।

Google Disavow tool पेज पर जाएं और अपनी डोमेन सेलेक्ट करें फिर Disavow Links पर क्लिक करें।

अगले पेज में फिर से Disavow Links पर क्लिक करें।

Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

यहाँ सिर्फ अपनी स्पैम लिंक की टेक्स्ट फ़ाइल अपलोड करें और सबमिट बटन पर क्लिक करें।

Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

अब आपको एक मैसेज दिखाई देगा। इस तरह,

Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

फ़ाइल अपलोड करने के बाद, इसके प्रभाव को देखने के लिए आपको 1-2 सप्ताह प्रतीक्षा करना होगा। गूगल उन पेज को फिर से क्रॉल करेगा।

Google Penalty के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ मैंने गूगल पेनल्टी के बारे में कुछ महत्वपूर्ण और अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न शेयर किया हैं:


कैसे पता करें कि आपकी वेबसाइट Google द्वारा Penalized की गई है या नहीं?

यह देखने के लिए कि क्या आपकी साइट Google Penalty से प्रभावित है, अपनी वेबसाइट ट्रैफ़िक, सर्च रैंकिंग की जाँच करें। यदि आपने बहुत कम समय में बहुत अधिक ट्रैफ़िक खो दिया है, तो यह Google algorithm update के कारण हो सकता है।

सबसे Best Google Penalty Checker Tools क्या हैं जो Google Penalty Recovery में मदद कर सकते हैं?

यहां कुछ बेहतरीन टूल दिए गए हैं जो आपकी साइट का ऑडिट करते हैं और Google penalty issues को खोजने और उन्हें ठीक करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

  • SEMrush (highly recommended tool)
  • Ahrefs
  • Moz Link Explorer
  • Serpstat
  • Google search console (notify for any issue)

आखरी सोच

यदि आपने अपनी वेबसाइटों पर ट्रैफ़िक खो दिया है, तो सुनिश्चित करें कि आपकी वेबसाइट पर ट्रैफ़िक ड्रॉप का कारण क्या है?

हालाँकि, कभी कभी technical issues के कारण वेबसाइट ट्रैफ़िक ड्राप हो जाती है, तो सबसे पहले, अपनी साइट पर सब कुछ जांच करें फिर कोई स्टेप लें।

एक बार जब आपको पता चल जाता है कि आपकी साइट गूगल अपडेट से प्रभावित हुई है, तो आप गूगल पेनल्टी को दूर करने के लिए उन Issues को ठीक कर सकते हैं।

अगर आपका कोई सवाल है, तो मुझे कमेंट बॉक्स में बताएं। छोटा सा निवेदन, अगर यह आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित हुई है, तो इसे शेयर करना न भूलें!

आपको ये आर्टिकल भी पढना चाहिए:


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here